Poetry

Parodies of Poems from Hindi Cinema

मैं और मेरी लुगाई अक्सर ये बातें करते हैं

 

मैं और मेरी लुगाई

अक्सर ये बातें करते हैं

तुम होती तो कैसा होता

तुम होती तो पैसा होता

मैं यह ख़रीदता

तुम वह खरीदती

हमारी जेबें बहुत भारी होतीं

मर्सेडीज़ लगती कितनी सस्ती

तुम होती तो ऐसा होता

तुम होती तो पैसा होता

मैं और मेरी लुगाई

अक्सर ये बातें करते हैं

 

 

 

 

Click to read

Hindi 102 Poetry